Home Health जाने किस प्रकार महिलाये दूर कर सकती हैं बांझपन, और बढ़ा सकती...

जाने किस प्रकार महिलाये दूर कर सकती हैं बांझपन, और बढ़ा सकती हैं अपनी प्रजनन क्षमता

1156
SHARE

बांझपन किसी भी महिला के लिए एक बड़ी समस्या होती हैं, हर महिला का सपना होता हैं की वो माँ बने और इससे ही एक महिला सम्पूर्ण होती हैं, लेकिन अगर किसी महिला की प्रजनन प्रणाली में किसी भी प्रकार का विकार आ जाता हैं, जिसके कारण वो गर्भधारण करने में असमर्थ हो जाती हैं तो इसे बांझपन बोला जाता हैं, आधुनिक समय  में इसका इलाज पॉसिबल हैं, महिलाओ के मासिक चक्र में गड़बड़ी या उनके जननांगों किसी प्रकार का विकार और गर्भ नालियों का बंद होने के कारण महिलाये बाँझ हो जाती हैं.

ऐसा नहीं है कि बांझपन केवल महिलाओं के कारण ही होता है, पुरुषों में शुक्राणु का कम होना या अंडे तक पहुंचकर उसे उर्वर बनाने में शुक्राणु की असमर्थता होना भी एक कारण हो सकता है. इस प्राकर जो पुरुष यौन क्रिया को सही से करने में असमर्थ होते हैं. इस प्रकार की समस्याएं पुरुषो का बांझपन कहलाती हैं.

भारत में बांझपन के आंकड़े इस प्रकार से हैं, 15 फीसदी महिला और पुरुष बांझपन के शिकार हैं, जनगणना रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 1981 से अबतक 50 फीसदी बांझपन में बढोत्तरी हुई है. यह बढ़ोत्तरी पुरुषों में भी देखने को मिली है.

महिलाओ में बांझपन के कारण:

यहाँ हम आपको कुछ ऐसे कारण बताने जा रहे है, जिसकी वजह से महिलाओं में बांझपन का खतरा बढ़ जाता है

अत्यधिक-तनाव.
शराब्, धुम्रपान.
बढ़ती उम्र
अधिक या कम वजन
यौन संक्रमित रोग
पोषण की कमी
अत्यधिक शारीरिक-प्रशिक्षण.

dates

बांझपन के लिए घरेलू नुस्खे:

भारत में किसी भी महिला के लिए बाँझ होना किसी अभिशाप से कम नहीं हैं, अगर कोई महिला शादी के बाद बच्चे जल्दी नहीं जन पाती या फिर वो कसी कारण गर्भ धारण नहीं कर पा रही हैं तो सारा समाज उसे ताने देना शुरू कर देता नहीं तो कई घरो में तलाक दे दिया जाता हैं, आधुनिक समय में इसका इलाज हो सकता हैं अगर लग कर दवा की जाए, और इन नुस्खों का इस्तेमाल किया जाता रहे तो आप इस समस्या से निजात पा सकती हैं और माँ बनने का सुख उठा सकती हैं .

करे अनार का सेवन:

रोजाना आनार का सेवन आपके बॉडी को बहुत फायदा पहुँचाता है, यह गर्भाशय के रक्त प्रवाह में वृद्धि करता है, और गर्भाशय की दीवारों को मोटा करके गर्भपात की संभावना को कम करने के लिए सहायक है. साथ ही, यह भ्रूण के स्वस्थ विकास को बढ़ावा देता है, अगर आप किसी भी प्रकार की समस्या से जूझ रही हैं तो अनार या इसके जूस का इस्तेमाल नियमित तौर पर करे.

अश्वगंधा भी हैं असरदार:

कई महिलाओ में बांझपन हार्मोनल डिसऑर्डर के कारण होता हैं, अगर आप भी हार्मोनल डिसऑर्डर शिकार हैं तो इसके लिए आप यह नुस्खा आज़माये, हार्मोनल-संतुलन को बनाए रखने और प्रजनन अंगों के समुचित कार्य-क्षमता को बढ़ाने में मददगार यह जड़ी बूटी बार-बार हुए गर्भपात के कारण, शिथिल-गर्भाशय को समुचित आकर में लाकर उसे स्वस्थ बनाने में मदद करती है.

गर्म पानी के एक गिलास में अश्वगंधा चूर्ण का 1 चम्मच मिश्रण बनाकर, दिन में दो बार लें, इससे आपको काफी लाभ पहुँचेगा.

आयुर्वेद से दूर करे यह समस्या:

आयुर्वेद में हर चीज़ का इलाज यह तो आप सभी जानते हैं, आयुर्वेद के इस अचूक इलाज से आप बच सकती हैं इन विकारो से, इसके लिए आप कुछ दिन तक धूप में एक बरगद के पेड़ की कोमल जड़ों को सुखाएं. फिर इसका महीन चूर्ण बनाकर एक बंद डिब्बे में रख लें. एक गिलास दूध में चूरण के 1 से 2 बड़े चम्मच मिलाएं.

माहवारी का समय खत्म होने के बाद लगातार तीन-रातों के लिए, खाली पेट इसे एक बार पियें. इसे पीने के बाद एक घंटे के लिए कुछ भी खाने से बचें. यह आपके लिए बहुत फायदेमंद नुस्खा साबित हो सकता हैं.

खजूर भी है फायदेमंद:

खजूर में कई पोषक तत्व होते हैं, जैसे कि विटामिन ए, ई और बी, लोहा और अन्य जरूरी खनिज तत्व जो गर्भ धारण करने के लिए, आपकी क्षमता को बढाने में मदद कर सकते हैं. इसका सेवन नियमित रूप से करके आप जल्दी प्रेग्नेंट हो सकती हैं.

लें योग का सहारा:

नाड़ीशोधन प्राणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, पश्चिमोत्तानासन, हस्तपादासन, जानू शीर्षासन, बाधा कोनासना, विपरीत-करणी और योग निद्रा इत्यादि यह कुछ ऐसे आसन है जिसकी मदद से प्रजनन क्षमता को बढ़ावा दिया जा सकता है, इन योगो को किसी विशेषज्ञ के परीक्षण में करे, इससे आपकी प्रजनन प्रणाली में सुधार आएगा.

संतुलित आहार:

संतुलित आहार खा कर आप हर प्रकार की समस्या से निपट सकते हैं , प्रजनन क्षमता में सुधार के लिए आप संतुलित आहार खाएं, एक स्वस्थ, संतुलित आहार स्वास्थ्य की उस दशा या बीमारियों को रोकने में मदद करता है जो बांझपन का कारण हो सकती हैं.

दालचीनी का उपयोग:

दालचीनी बांझपन से लड़ने में प्रभावशाली सिद्ध हो सकती है, इसके लिए आप यह घरेलू वा आसान नुस्खा आज़मा सकती हैं , गर्म पानी के एक कप में, दालचीनी पाउडर का एक चम्मच मिलाएं.

कुछ महीनों के लिए दिन में एक बार इसे पीते रहें, इसके अलावा, अपने अनाज, दलिया, और दही पर भी दालचीनी पाउडर का छिड़काव करके इसे अपने आहार में शामिल करें. कुछ महीनो में आपको इसका असर दिखने लगेगा.

female infertility s a big problem for a woman by using these home remedies you can improve your fertility by which you can conceive soon.

web-title: how to fight from female infertility

keywords: female infertility, symptoms, causes, home, remedies