Home Pregnancy गर्भावस्था में होने वाली सभी प्रकार की पेट की समस्याओ का इस...

गर्भावस्था में होने वाली सभी प्रकार की पेट की समस्याओ का इस प्रकार करे निपटारा

332
SHARE

प्रेगनेंसी एक सुखद एहसास होता हैं, लेकिन कई लोगो के लिए पीड़ादायक भी हो जाता हैं. पेट की समस्या जब किसी नार्मल व्यक्ति को हो जाती हैं तो उसके लिए बहुत ज़ायदा तकलीफदेह हो जाता हैं वही आप सोचे अगर पेट की समस्या किसी गर्भवती महिला को हो जाए तो उसके लिए कितना पीड़ादायक हो सकता हैं, यह आप सोच भी नहीं सकते, यहाँ हम आपको बताएंगे की गर्भावस्था में पेट की समस्या अगर आपको हो रही हैं तो पेट की बिमारी का इस प्रकार करे निपटारा.

क्या करे जब गर्भावस्था में हो आपको पेट की बिमारी की समस्या:

यूँ तो गर्भावस्था में महिलाओ को कई प्रकार की दिक्कतों का सामना करना पड़ता हैं लेकिन गर्भावस्‍था के दिनों में पेट में अपच और गैस, पेट दर्द और ऐठन की समस्‍या होना आम बात होती हैं, गर्भावस्‍था के प्रारम्भिक दिनों में यह काफी ज्‍यादा होती है, ऐसे में महिला को काफी समस्‍या होती है और उसे सारा दिन अजीब सा महसूस होता रहता है.

कई महिलाओं को पेट में ऐंठन और दर्द भी होता है, उन्हें कई प्रकार की अलग-अलग तरह की चीज़े खाने का मन करता हैं. यह हम आपको बताएंगे उन घरेलू नुस्खों के बारे में जो आपको गर्भावस्था इस प्रकार की समस्याओ से दूर रखेगा.

मेथी के दाने के हैं कई फायदे:
रात में में मेथी के दानो को भिगोकर रख दें और सुबह उस पानी को पी लें यह काफी असरदार होता हैं पेट की बीमारियों को दूर करने में इस प्रकार गर्भवती महिला के लिए यह एक अच्छा नुस्खा साबित हो सकता हैं.

ज्‍यादा पानी पीना:
गर्भावस्‍था के दिनों में डिहाईड्रेशन की समस्‍या काफी ज्‍यादा होती है, और इस कारण पेट में ब्‍लोटिंग हो सकती है, इसीलिए गर्भवती होने पर पानी को ज्‍यादा पिएं ताकि शरीर में पानी की कमी ना हो और आप स्वस्थ्य रहे.

image

फाइबरयुक्‍त आहार:
फाइबर युक्‍त आहार का सेवन करने से पेट सही रहता है, इसको खाने से पाचन क्रियाएं सुचारू रूप से चलती हैं जिसके कारण पेट में सूजन भी नहीं आती है, फलों का सेवन खूब करें, इनमें बहुत सारा फाइबर होता है. और हरे पत्तेदार सब्ज़ियां खाये. फायबर के सबसे अच्छे ज़रूर हैं यह आहार जैसे चावल, गाजर, हरी पत्‍तेदार सब्जियां, साबुत अनाज और होल ग्रेन जो पाचन तंत्र में पानी को अवशोषित कर आंतों के माध्यम से आगे बढ़ाते हैं और पाचन क्रियाये सुचारू रूप से चलाने में मदद करते हैं.

व्यायाम करे:
गर्भावस्था में महिलाये चाहे तो हल्का फुल्का व्यायाम कर सकती हैं, इससे उन्हें फायदा ही होगा वो अपने डॉक्टर की परामर्श से कोई भी व्यायाम कर सकती हैं. खाने के बाद 10 से 15 मिनट की वॉक करे इससे गर्भावस्था में पेट की बिमारियों से बचा सकता हैं , इसके अलावा नियमित और हल्‍की एक्‍सरसाइज, अपने घर या बगीचे के आस-पास वॉक करिये जिससे पाचन तंत्र अच्छा रहेगा और गैस नहीं होगी.

तनाव को रखे खुद से दूर:
जी हैं गर्भावस्था में बहुत ज़्यादा तनाव होने से पेट में दर्द ऐठन जैसी समस्याएं हो जाती हैं और यह आपके लिए और आपके बच्चे की सेहत के लिए बिलकुल भी अच्छा नहीं हैं, इस प्रकार आपको तनाव से खुद को दूर रखना चाहिए. टेंशन से पेट में दर्द या ऐंठन हो ना हो लेकिन सूजन आ ही जाती है क्‍योंकि आप खाने-पीने पर सही से ध्‍यान नहीं दे पाती हैं.

गर्भावस्था में पेट फूलने की समस्या को इस तरह कहे बॉय:
पेट फूलना या फिर कहिये ब्‍लोटिंग की परेशानी, जिसके कारण पेट बहुत सूज जाता हैं, यह कंडीशन काफी असहज होती है, जिसमें छोटी आंत के अंदर गैस भर जाती है, पेट फूलना एक संकेत हो सकता है कि खाया गया भोजन ठीक प्रकार से हजम नहीं हुआ है, इसीलिए गर्भावस्था के समय आपको चाहिए के आप बहुत ज़्यादा तला चिकना खाना ना खाये और फ्राइड फ़ूड से दूर रहे .

अगर तब भी बहुत ज़्यादा पेट फूल रहा हो तो पुदीना इसमें काफी ज़्यादा उपयोगी साबित होगा , एक कप पुदीने की चाय पीने से पेट दर्द ठीक होता है और इस दिक्कत से निजात मिलती हैं.

इस प्रकार इन नुस्खों को अपना कर आप दूर कर सकती हैं पेट की सभी समस्याओ.

if you are pregnant and you have stomach problem during this period then here is the solution of your problem, apply these remedies and get relief soon

web-title: what to do for stomach problems during pregnancy

keywords: pregnancy problem, stomach pain, home, remedy