माइक्रोवेव ओवन में खाना पका रहे तो बुला रहे भयानक बीमारियां!

442
Loading...

माइक्रोवेव से आपको हो सकते हैं ये खतरनाक रोग, जल्दी की चक्कर में न बनाएं खाने को जहरीला…

कैंसर पैदा करने वाले तत्व बन जाते है

माइक्रोवेव ओवन के विकिरण भोजन को जहरीला सकते हैं। बहुत अधिक तापमान पर यह आपके खाद्य पदार्थ को कैंसर पैदा करने वाले कारकों में बदल सकता है। आपको बता दें दूध और अनाज माइक्रावेव में गरम करने या पकाने से उनके कुछ अमीनो एसिड परिवर्तित होकर कैंसर पैदा करने वाले तत्व बन जाते हैं। मांस माइक्रावेव ओवन में पकाने से उसमें कैंसर पैदा करने वाले तत्व बन जाते हैं। यदि माइक्रोवेव ओवन में पकाए भोजन को रोज खाया जाए तो स्त्री और पुरुष के हार्मोन्स निर्माण पर भी असर पड़ता है। माइक्रोवेव ओवन में पकाई गई सब्जियों में विद्यमान खनिज कैंसरकारी फ्री रेडिकल्स में परिवर्तित हो जाते हैं।

फूड वैल्यू में कमी

ध्यान रखें बेबी फूड को कतई माइक्रावेव में गर्म न करें। इससे बच्चे के तंत्रिका तंत्र और गुर्दे पर खराब असर पड़ता है। वास्तव में भोजन की न्यूट्रिशियस वैल्यू ही खत्म हो जाती है। रूसी के शोधकर्ताओं का कहना है कि माइक्रोवेव ओवन परीक्षण में सभी खाद्य पदार्थों में 60 से 90 फीसदी फूड वैल्यू की कमी पाई गई। इसके अलावा रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी कम होती है। हार्ट से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं। मोतियाबिंद तक हो सकता है।

Microwave-side-effects

Advertisement
Loading...

पेट में पल रहे बच्चे की सेहत पर बुरा असर

माइक्रोवेव में खाना पकाकर खाने से विटामिन बी12 की कमी हो जाती है। और तो और यह मां के दूध को भी खत्म कर देता है।  माइक्रोवेव ओवन के ज्यादा इस्तेमाल से पेट में पल रहे बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। उसके ब्रेन, हार्ट और लिंब्स आदि को नुकसान हो सकता है।

Pregnant-women-are-at-risk-from-magnetic-radiation

दरअसल माइक्रावेव के उच्च ऊष्मा विकिरण खाद्य पदार्थों में से सारे प्रोटीन, विटामिन और खनिज को खत्म कर देते हैं। ध्यान रखें प्लास्टिक के बर्तनों में माइक्रोवेव में खाना कभी न पकाएं, क्योंकि माइक्रोवेव में प्लास्टिक के बर्तन विषाक्त पदार्थ छोड़ते हैं, जिससे कैंसर होने की संभावना होती है। इसके अलावा माइक्रोवेव में बने खाने को खाने से मेमोरी भी लॉस होती है। एकाग्रता में कमी आती है।

women pregnant

माइक्रोवेव में गर्म रक्त से हो गई थी मौत

गौरतलब है कि अमेरिका में एक व्यक्ति की मौत माइक्रोवेव ओवन में गरम किए खून को चढ़ाने से हो गई थी। माइक्रोवेव ओवन में गरम करने के दौरान रक्त  एक घातक पदार्थ में बदल गया था। गौरतलब है कि रूस के वैज्ञानिक शोधों के निष्कर्ष में पाए गए स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभावों के चलते 1976 में माइक्रोवेव ओवन पर प्रतिबंध लगाया था, हालांकि बाद में इसे हटा दिया गया।

Advertisement
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here